शेयर की कीमतों में बढ़ोतरी से रिलायंस 250 अरब डॉलर की कंपनी बन गई

शेयर की कीमतों में बढ़ोतरी से रिलायंस 250 अरब डॉलर की कंपनी बन गई

घरेलू शेयर बाजार से समर्थन के कारण रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का बाजार पूंजीकरण आज पहली बार 250 अरब डॉलर के स्तर को पार कर गया। इस तरह अब रिलायंस इंडस्ट्रीज 250 अरब डॉलर के मार्केट कैप वाली कंपनी बन गई है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर आज करीब एक फीसदी की तेजी के साथ 2,809.95 रुपये पर कारोबार करने लगे। इस उछाल के चलते रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कारोबार शुरू करते ही बाजार पूंजीकरण के मामले में 250 अरब डॉलर के स्तर को पार कर लिया।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर आज दिन के कारोबार के दौरान 2,851 रुपये के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गए। कंपनी का बाजार पूंजीकरण भी बढ़कर 250.7 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया। हालांकि दिनभर के कारोबार के बाद कंपनी का शेयर 1.49 फीसदी की तेजी के साथ 41.50 रुपये की तेजी के साथ आज का कारोबार 2,819.85 रुपये पर बंद हुआ। रिलायंस का बाजार पूंजीकरण भी आज की तारीख में 250.7 अरब डॉलर के सर्वकालिक उच्च स्तर से है। थोड़ा कम होकर 250.34 अरब डॉलर हो गया।

गौरतलब है कि पिछले डेढ़ महीने के दौरान रिलायंस के शेयरों में अब तक करीब 27 फीसदी की तेजी आ चुकी है. इस दौरान शेयर 2,851 रुपये के उच्च स्तर पर पहुंच गया। हालांकि, डेढ़ महीने की इस अवधि में शेयर बाजार में करीब 8 फीसदी की ही तेजी आई है. साफ है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों की कीमत शेयर बाजार की तुलना में तेजी से बढ़ी है। इसके साथ ही यह भी सच है कि इस कंपनी के शेयरों में तेजी से दोनों शेयर बाजार सूचकांकों को भी काफी समर्थन मिला है.

एनालिस्ट्स का कहना है कि रिलायंस के शेयर में इस तेजी की एक बड़ी वजह उसके ऑयल रिफाइनरी बिजनेस के प्रॉफिट मार्जिन में जोरदार बढ़ोतरी रही है। इसके साथ ही रिलायंस ग्रुप की कंपनियों के टेलीकॉम और रिटेल सेक्टर में तेजी से विस्तार होने से रिलायंस के शेयरों की कीमतों में जोरदार तेजी देखने को मिली है।

रिलायंस के शेयर की मजबूती का असर ग्रुप चेयरमैन मुकेश अंबानी की निजी संपत्ति में बढ़ोतरी के रूप में भी दिख रहा है। डेढ़ महीने पहले मुकेश अंबानी की निजी संपत्ति 92 अरब डॉलर थी। वह दुनिया के शीर्ष अमीरों की सूची में 11वें स्थान पर थे, लेकिन शेयर बाजार में रिलायंस के शेयरों में तेजी के कारण उनकी निजी संपत्ति में फिलहाल 11 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है। और 103 अरब डॉलर की निजी संपत्ति के साथ वह दुनिया के शीर्ष अमीर लोगों की सूची में 8वें स्थान पर पहुंच गए हैं।



Leave a Reply